Love & Romance

कुछ ऐसी बातें

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
42

वो कहते हैं तुमसे बताया न गया

और हमें लगा हमसे छुपाया न गया

लगता है कुछ अल्फ़ाज़ समां ही ले गया

वरना अंजाम ऐसा मुलाक़ात का

हमें गंवारा न था

 

हाँ कुछ बातों के फूल ऐसे भी थे

जो लब पर आ कर भी बिखरे नहीं

कुछ एहसास की कलियाँ ऐसी भी थीं

जो खिलने को बेक़रार रह गईं

मग़र

 

मग़र हर लफ्ज़ का मिलन ज़ुबाँ से हो

और हर एहसास को लफ़्ज़ों में बयां करना

मुमकिन हो

ऐसा तो दरकार नहीं

 


कुछ बातें ज़हन में ही महफ़ूज़ हैं

ये उन्हें समझाना नामुमकिन है

फिर भले ही वो कहते रहें

तुमने हमें कुछ बताया ही नहीं

 

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
42

Latest Thoughts

To Top
More in Love & Romance, Poetry, Sad Poetry, कविताएं
A Poem is…

Feelings… Feelings invoke imagination Imagination rears thoughts Thoughts starve for words Words that are scattered… as billions of galaxies and...

Annihilate Your Worries

A pest that feasts on your peace Worry is a crippling disease Stripping you of your strength It drains energy...

Close